Thursday, July 30, 2015

गुज़र गयीं

गुज़र गए हैं दिन सारे, गुज़र गयीं वो रातें भी,
गुज़र गयीं वो अनछुई शामों की मुलाकातें भी,
गुज़र गया हर एक  लम्हा जिनमें थी चंद बातें भी,
गुज़र गयी हर एक यादें जिनमें थी चंद सांसें भी......

1 comment:

  1. Chhoo gai ungliyaan Jaane kis khuwaab se
    Aaj kyun neend se Uth gayi khuwaishein,

    Ye khalish he nai Ye junoon he nayaa
    Le chalaa dil kahaan Dil kahaan le chalaa.

    Sh@@n...................!

    ReplyDelete